pthari ka elaj

0
237

आजकल पथरी की समस्या आम हो गयी हैं । आप हैरान होंगें कि इस बीमारी का इलाज भी हमारे घर आंगन में ही हैं । मगर हमारी मानसिकता हो गयी है डॉक्टर के पास भागने की ।
patharchatta

आओ जानें एक ऐसा उपाय जिसके बाद इस बिमारी में डॉक्टर के पास शायद ही जाना पड़े । पत्थरचट्टा नामक पौधा जो हमारे घर के आंगन में नहीं तो पड़ोस के किस आंगन में अवश्य मिल जायेगा । इसे पाखाण भेद भी कहते हैं जिसका अर्थ हैं पथर को तोड़ने वाला । यह पौधा ही पथरी के लिए रामबाण औषधी है । पत्थरचट्टा के 3 पत्तों को सुबह व् शाम को खाली पेट 20 से 25 दिन सेवन करने से पथरी टूट कर निकल जाती हैं । अत: आयुर्वेद अपनाये स्वास्थ्य बचाए । मूत्र संबंधी जितने भी रोग होते हैं उसमें भी पत्थरचट्टा बेहद लाभदायक दवा है । शयन रखें इस औषधि का सेवन करते समय चूना, बिना साफ किये हुए फल और अधिक चावल आदि का सेवन न करें । बता दें कि पथरी की मुख्य वजह कैलशियम होती है । शरीर में अधिक कैलशियम का होना पथरी का कारण बनता है । अगर आपको यह पौधा ना मिले तो आप होमियोपैथी उपचार करें ।

or

 

NEERI GOLI AYURVEDIC  SUBAH SAM

or

Dhaniya ka ptta boil kr usme nebu mela kar subah me peye

or

Kuthhi ki dal ka pani peye

 

Read more at: http://hindi.revoltpress.com/health/ayurveda/10-drops-are-enough-to-remove-stone-from-body/?utm_source=Alienji&utm_campaign=Facebook&utm_medium=Social

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here